परवहन मंत्र रजस्थन

वहीं, राजकीय विद्यालय शिक्षक संघ, पश्चिमी जोन के जिला सचिव संत राम ने बताया कि उनके जिले के हर स्कूल से सात से आठ शिक्षक कोरोना ड्यूटी पर हैं। इसमें ज्यादातर टीजीटी या प्राइमरी शिक्षक हैं। उन्होंने बताया कि जो शिक्षक कोरोना ड्यूटी पर हैं उनकी जगह पर दूसरे विषय के शिक्षक छात्रों को पढ़ा रहे हैं। इसमें गणित का शिक्षक यदि कोविड ड्यूटी पर है तो संस्कृत, हिंदी, अंग्रेजी या अन्य किसी विषय के शिक्षक को गणित की कक्षा लेनी होती है। इससे शिक्षक को भी विषय को समझाने में परेशानी होती है और छात्र को भी समझने में।