प ल ज choti bache ka 2018 ka

गांव का सारा गंदा पानी तालाब में जाता है। सफाई कर्मचारी आता नहीं है। जो तालाब कभी गांव के पशुओं के साथ पक्षियों की प्यास बुझाता था, वह आज बदहाल पड़ा है।