nlc neyveli recruitment 2016

गन्ने की कटाई होने के बाद खेत खाली हुए तो बाघ नदी किनारे प्रवास किए हुए हैं। यह जगह बाघों के छिपने के लिए अनुकूल है। नदी किनारे नरकुल की झाड़ियों वन्यजीवों के छिपने के लिए मुफीद साबित हो रही हैं। उधर तेंदुए की लोकेशन डबरी नदी किनारे मिल रही है। इस समय नदी किनारे तरबूज की फसल की खेती प्रगति पर है। तरबूज दिल्ली की मंडियों में जा रहा है,लेकिन उचित मूल्य नहीं मिल रहा है। जंगली जानवरों की दहशत के चलते दिन में ही फसल को गाड़ियों में भर दिया जाता है। शाम होने के बाद जंगली जानवरों की चहलकदमी होने लगती है, जिससे खौफ रहता है। ऐसे में लोग शाम होने से पहले पालेज का काम बंद कर देते हैं। जंगली जानवरों की निगरानी के लिए वन कर्मी क्षेत्र में लोकेशन ट्रेस करते रहते हैं। जब से गन्ने की कटाई हुई है। जंगली जानवरों की लोकेशन दिखाई नहीं दे रही है। इससे पहले रोजाना पग चिन्ह दिखाई देते थे।