मूल नक्षत्र कैसे जने

अमानगढ़ टाइगर रिजर्व और उत्तराखंड के जिम कार्बेट पार्क की सीमा सटी हुई हैं। घना जंगल होने की वजह से यहां जंगली जानवर स्वछंद विचरण करते हैं। जिम कार्बेट पार्क प्रशासन के अनुसार इस साल हुई पशु गणना में पार्क में 221 बाघ और 1213 हाथी हैं। वहीं अमानगढ़ टाइगर रिजर्व की सीमा से सटे एलीफेंट जोन से निकलकर हाथी भी इस रेंज में दूर तक विचरण करते हैं। इस जंगल में बाघ और गुलदार भी हैं। कोरोना संक्रमण के मद्देनजर वन विभाग ने अमानगढ़ टाइगर रिजर्व और जिम कार्बेट पार्क में टूरिस्टों की आवाजाही पर रोक लगी है। कुछ टूरिस्ट चोरी-छिपे घने जंगलों में प्रकृति की छटा को निहारने पहुंच जाते हैं। जंगल में टूरिस्टों की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए वन विभाग के कर्मचारियों ने अमानगढ़ टाइगर रिजर्व और उत्तराखंड के जिम कार्बेट पार्क की सीमा पर संयुक्त गश्त तेज कर दी, ताकि एक भी टूरिस्ट जंगल में प्रवेश न कर सकें। इसके बावजूद यदि कोई टूरिस्ट जंगल में प्रवेश करेगा तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। अमानगढ़ टाइगर रिजर्व के रेंजर आरके शर्मा ने बताया कि जंगली पशुओं में संक्रमण से बचाव को टूरिस्टों की आवाजाही पर पूूरी तरह से रोक लगा दी गई है। उधर, डीएफओ डा. एम. सेम्मारन का कहना है कि अमानगढ़ और जिम कार्बेट पार्क की टीमें लगातार गश्त कर रही हैं, ताकि बेवजह घूम रहे लोगों की आवाजाही पर रोक लगाई जा सके।