मतदत शपथ पत्र 2019

सफाई महकमे में कर की जिम्मेदारी वाले साहब वैसे तो हमेशा परेशान ही रहते हैं। उनके मन के मुताबिक कहीं कोई काम ही नहीं होता है। बड़े साहब के सामने आते हैं तो इतना तेल गिरा देते हैं कि मामला फिसल जाता है। डांट अलग से मिलती है। पिछले दिनों बड़े साहब ने एक क्षेत्र की जिम्मेदारी देते हुए वाहन पर सवार कर दिया। साहब वाहन से घूमते तो थे लेकिन परफार्मेंस बताने लायक नहीं रहता था। कुछ अफसर आए तो साहब को पैदल कर दिया गया। जबसे पैदल हुए हैं तब से वाहन के लिए भटक रहे हैं। बड़े साहब जब कहीं श्रमदान अभियान चलाते हैं तो वाट्सएप ग्रुप पर अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए दूसरे अफसरों से लिफ्ट मांगते हैं पर मंशा पूरी नहीं हो पाती है। अनदेखी से परेशान हैं। पिछले वाले साहब ने इनको तड़ीपार कर दिया था। किसी तरह बहाली का आदेश लेकर आए हैं।