mrpl mangalore recruitment

दरअसल, रुद्रपुर से जो पंद्रह हजार इंजेक्शन प्राप्त हुए हैं। इनमें 10 हजार इंजेक्शन दून मेडिकल कालेज, दो हजार हल्द्वानी मेडिकल कालेज और तीन हजार स्वास्थ्य महानिदेशालय के हैं। लेकिन, स्वास्थ्य महानिदेशालय के तीन हजार इंजेक्शन शुक्रवार दिन तक नहीं पहुंचे थे। अधिकारियों का कहना था कि देर रात तक इंजेक्शन पहुंच जाएंगे। इधर, दून मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना ने कहा कि कालेज प्रबंधन ने अपने स्तर से दस हजार इंजेक्शन का आर्डर दिया था। ये इंजेक्शन अस्पताल में भर्ती होने वाले ब्लैक फंगस के मरीजों के इलाज के लिए हैं। यदि किसी सरकारी अस्पताल को इंजेक्शन की जरूरत है तो उन्हें उधार पर इंजेक्शन दिए जा सकते हैं। पर निजी अस्पतालों के लिए इंजेक्शन नहीं हैं।