मैटरनट लव एप्लकेशन लेटर इन हंद

खूंटी : सदर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत घाघरा गांव में पिछले छह दिनों से स्कूल नहीं खुला है। स्कूल बंद रहने से वहां के बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। यहां पर बीते 27 जून को पुलिस और पत्थलगड़ी समर्थकों के साथ झड़प की घटना हुई थी। उस घटना के बाद से स्कूल बंद हैं। विद्यालय में दो शिक्षक पदस्थापित हैं। करम ¨सह मुंडा और दूसरे एनके मुंडू। दोनों शिक्षक 26 जून से फरार हैं। इस बीच जिला प्रशासन ने गांव में कैंप लगाकर ग्रामीणों से गांव लौटने के लिए राहत सामग्री का वितरण किया। साथ ही गांव के कई लोगों की चिकित्सा जांच कराई। बच्चों में पठन-पाठन और खेल की सामाग्री का वितरण किया गया। उसी क्रम में बच्चों ने कहा कि विद्यालय कई दिनों से बंद है। विद्यालय में शिक्षक नहीं आ रहे हैं। हमलोग वापस लौट जाते हैं। इस संबंध में जिला शिक्षक अधीक्षक सुरेश चंद्र घोष ने कहा कि उस गांव में विद्यालय प्रबंधन समिति को बीआरसी के माध्यम से खबर दी गई है। उनलोगों के साथ हमलोग बैठक करेंगे। साथ ही दोनों शिक्षकों को भी बुलाया गया है। जितने दिनों तक वे लोग स्कूल नहीं गए होंगे उनको उतने दिनों का वेतन नहीं मिलेगा। नो वर्क नो पे का नियम उनपर लागू किया जाएगा।