lic idbi bank recruitment

मधेपुरा। कोरोना के प्रकोप से देश सहित जिले के सभी सरकारी और निजी विद्यालय सहित शिक्षण संस्थाएं बंद हैं। तीन मई तक लॉकडाउन के कारण विद्यार्थियों के शिक्षा पर ग्रहण लग रहा है। ऐसे में विद्यार्थियों की पढ़ाई बाधित न हो इसके लिए विद्यालयों ने ऑनलाइन पढ़ाई आरंभ की है। शिक्षक जहां विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए ऑनलाइन माध्यम हो रहा है। वहीं विद्यार्थी ग्रुप से जुड़कर मोबाइल, लैपटॉप पर वीडियो कॉलिग के माध्यम से पढ़ाई कर रहे हैं। विद्यालय प्रबंधन इस तरह की कवायद प्रारंभ करके विद्यार्थियों को घर बैठे की शिक्षा दे रही है। ऑनलाइन विद्यालय ने बच्चों को सभी पाठ्यक्रम उपलब्ध करा रहे हैं। वहीं इसके साथ विद्यार्थियों को कक्षावार वर्ग में बांट दिया गया है। प्रत्येक विषय के शिक्षक समयनुसार बच्चों को विषयवार पढ़ाई करवा रहे हैं। इस नवतकनीकी से निजी विद्यालय ने तो इसकी कवायद की है, लेकिन सरकारी स्कूलों का हाल अब भी वही है। सरकारी विद्यालयों अपने पास व्यवस्था का रोना रो रहे हैं। जबकि अगर विभाग इस लॉकडाउन में इस प्रक्रिया को अपनाएं तो बच्चों को शिक्षा पर लगे ब्रेक को काफी हद तक कम क्या जा सकता है। वहीं जिले में लगभग दर्जनों विद्यालय में ऑनलाइन पढ़ाई से जहां विद्यार्थी उत्साहित होकर पढ़ाई कर रहे हैं। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए इंटरनेट पर ई-कंटेट जारी किए जा रहे हैं। वहीं सोशल साइट पर भी ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कई तरह के ऑडियो और वीडियो विजुवल भी दिखाए जा रहे हैं।