कुमर सनु अनु मलक तेरे दर्द से दल

धरने की अध्यक्षता करते हुए युवा कांग्रेस नेता व प्रदेश प्रवक्ता अमित जोशी ने कहा कि बंदर व कुत्तों की समस्या नगर में कोढ में खाज की तरह है। इसका समाधान करने के बजाए नगर पालिका की तरफ से कोरे आश्वासन दिए जा रहे हैं। जो अब कतई बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे। इस समस्या का समाधान कराए जाने के लिए आम नागरिक व संभ्रांत लोग एकजुट होकर आंदोलन करने को तैयार हैं। उनका कहना था कि पालिका के कर्मचारी न तो सफाई व्यवस्था में कारगर सिद्ध हो रहे हैं वहीं। दूसरी ओर आवारा जानवरों की चहलकदमी से सड़क पर चलना दूभर हो चुका है। विशिष्ट वक्ता के तौर पर आई पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष शोभा जोशी ने कहा कि नगर में गंदगी का साम्राच्य है। रोड पर महिलाओं व बच्चों का चलना बंदरों व कुत्तों ने दूभर कर दिया है। आए दिन यह लोगों को काटकर घायल कर रहे हैं। वहीं नगर पालिका के ईओ व उनकी टीम सिर्फ आश्वासन देने का नाटक कर रही है। उन्होंने कहा कि अब इस मामले में जनता की आवाज को अधिक दिनों तक दबाना संभव नहीं है। राकेश उप्रेती ने कहा कि बंदरों की तरफ से आए दिन बच्चों पर हमले करने की घटनाएं सामने आ रही हैं। रात व दिन में भी लोग कुत्तों से भय खाकर कहीं बाहर निकलने में डर रहे हैं। मांगों को लेकर ईओ श्यामसुंदर प्रसाद को ज्ञापन दिया गया। जिसमें अमित जोशी ने 15 दिनों का समय देकर समस्या का निस्तारण करने की मांग रखी। ईओ ने आश्वस्त किया कि उनकी सभी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। इस मौके पर प्रमोद ¨सह, प्रकाश पांडेय, आशीर्वाद गोस्वामी, आनंद ¨सह बिष्ट, हेमंत, गगन जोशी, नवाज खान, गौरव जायसवाल, सोहित भट्ट, देवेंद्र बिष्ट आदि मौजूद रहे।