ksrp recruitment 2016 hall ticket

संवाद सहयोगी, मौलेखाल (अल्मोड़ा) : त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के बाद अब ब्लॉक प्रमुखों और जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए चुनाव की तिथि घोषित कर दी गई है। तिथि घोषित होने के बाद से ही जहां इन चुनाव के लिए सियासत तेज हो गई है। वहीं कोई भी राजनीतिक दल और उनके संभावित उम्मीदवार इन चुनाव के लिए कोई कोर कसर छोड़ना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। जिले के सल्ट ब्लॉक की बात करें तो यहां सत्तापक्ष से ब्लॉक प्रमुख पद के लिए तीन दावेदार दम भरे हुए हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी ने सिर्फ एक उम्मीदवार पर अपनी पूरी ताकत झोंकी है। हालांकि दोनों पाíटयों ने अभी अपने अपने उम्मीदवारों की घोषणा यहां नहीं की है। सल्ट विकास खंड की बात करें तो यहां क्षेत्र पंचायत की चालीस सीटें हैं। इस बार के पंचायत चुनावों में यहां दो पदों पर निíवरोध उम्मीदवार चुन लिए गए। जबकि 38 सीटों के लिए 128 उम्मीदवारों ने चुनाव में अपना भाग्य आजमाया। चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद से ही यहां ब्लॉक प्रमुख पद के लिए जोड़-तोड़ शुरू हो गया था। कांग्रेस पार्टी इस सीट पर अपनी बादशाहत कायम रखने की कोशिश में जुटी रही तो भाजपा भी कांग्रेस पार्टी के तिलिस्म को तोड़ने के लिए रणनीति बनाने में व्यस्त रही, लेकिन चुनावों की तिथि घोषित होने के बाद भी दोनों पाíटयां अभी तक अपने उम्मीदवार की नाम घोषित नहीं कर पाई है। भाजपा में ब्लॉक प्रमुख पद के लिए दावेदारों की लंबी फेहरिस्त इस जंग को जीतने में मुश्किल खड़ी कर रही है। भाजपा के पार्टी सूत्रों की मानें तो अब तक यहां ब्लॉक प्रमुख पद के लिए जाख सीट से क्षेत्र पंचायत हंसा नेगी, इनलौ सीट से दीपक शर्मा और रणथंबल सीट से रोहित मेहरा प्रबल दावेदारों में एक हैं। जबकि कांग्रेस पार्टी ने खुमाड़ सीट से जीते पूर्व सीएम हरीश रावत के औद्योगिक सलाहकार और सल्ट के विधायक रहे रंजीत रावत के पुत्र विक्रम रावत के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है। राजनीति का ऊंट किस करवट बैठेगा यह तो चुनाव के बाद ही पता चल सकेगा, लेकिन सल्ट ब्लॉक में कांग्रेस के सामने बादशाहत कायम रखने तो भाजपा के सामने कांग्रेस के तिलिस्म को तोड़ने की चुनौती बनी है।