करन कपूर के वडय सेक्स

ये केवल अकेले एक इंतजार अली की समस्या नहीं है, बल्कि उन हजारों लाभार्थियों की है जो इन दिनों प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना से अपना घर बनवा रहे हैं। सरकार से तीन किश्तों में ढाई लाख रुपये मिलने हैं। जनवरी, फरवरी में पहली किश्त मिलने पर निर्माण की शुरूआत कराई थी तो सीमेंट 295 से 310 रुपये प्रति बोरी के हिसाब से बिक रहा था। अब इसकी कीमत 360 से 380 रुपये तक पहुंच गई है। अच्छी किस्म की अव्वल ईंट ढूंढने से भी नहीं मिल रही। अधिकांश भट्ठों का स्टॉक खत्म हो गया है। दूसरे दर्जे की ईंट की कीमत 5100 से छह हजार रुपये प्रति हजार ईंट पहुंच गई है। ऐसे में पीएम आवास के लाभार्थी ही नहीं अपने भवन बनवा रहे सभी भूस्वामियों का बजट भी गड़बड़ा गया है। इसलिए बढ़ी समस्या: