कंग्रेस पर्ट प्रेजडेंट लस्ट

मान्यता के मुताबिक गुरुवार की मध्यरात्रि प्रभु यीशु का जन्म होगा। इसके साथ ही बड़े दिन के पर्व की आराधना प्रारंभ होगी। गिरजाघर सज-धजकर तैयार हैं। चर्च प्रांगणों व घरों में क्रिसमस की प्रतीक चरणी, स्टार, क्रिसमस ट्री लगाए गए हैं। घरों में महिलाएं केक और पकवान तैयार करने में जुटी हैं। सेंट पॉल्स कैथेड्रल, सेंट जोसफ महागिरजाघर, सेंट मेरीस चर्च टाटीबंध, जॉन द बैपटिस्ट चर्च कापा, अमलीडीह चर्च, ग्रेस चर्च, सेंट मैथ्यूस चर्च, सेंट पीटर्स चर्च जोरा, नवा रायपुर में खड़वा चर्च, मारथोमा चर्च, बिलिवर्स ईस्टर्न चर्च, रायपुर क्रिश्चियन चर्च, चर्च आफ गॉड समेत चार दर्जन गिरजाघरों में धार्मिक संस्कारों की तैयारी पूरी हो चुकी है।