जल छतरपुर तहसल बजवर

लोगों ने फिर उनका साथ दिया और उनकी मां भी चुनाव जीतकर प्रधान बन गईं। शुक्रवार को ह्रदय गति रुक जाने से उनकी मां का भी निधन हो गया। तीन माह में परिवार में दो मौत से मातम छा गया है। क्षेत्र में भी इसे लेकर चर्चा है कि क्या अब तीसरी बार भी इस परिवार की महिला चुनाव मैदान में उतरेगी या फिर यह परिवार चुनाव से अब तौबा करेगा।