झरखण्ड के प्रथम शक्ष मंत्र कन है

नगर पालिका क्षेत्र के 25 वार्डों के करीब सवा लाख आबादी को भेलाही बंधी से पानी पहुंचाया जाता है। इसके अलावा कुछ जगहों पर बोरिग के माध्यम से टैंकरों से पानी पहुंचाकर पेयजल समस्या से निजात दिलाए जाने का काम किया जाता है, लेकिन गर्मी का मौसम आते-आते नगर में पेयजल की गंभीर समस्या खड़ी हो जाती है। इससे निजात दिलाए जाने के लिए जल निगम की तरफ से सपा सरकार में 2015 में एक वृहद योजना बनाई गई थी। शुरुआत में काम तो काफी तेज गति से हुआ लेकिन बाद में धन के अभाव में काम काफी धीमी गति से होने लगा। जब धन मिल गया तो सिचाई विभाग की तरफ से एक नहर के पास पाइप को पार करने के लिए एनओसी नहीं दी जा रही थी। हालांकि कुछ महीने बाद एनओसी भी मिल गई, लेकिन अभी तक मैकेनिकल व सिविल का काम पूरा नहीं होने से परियोजना को शुरू होने पर अभी दो महीने का समय और अधिक लग सकता है। इंटेकवेल व वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में नहीं लगे पंप