ज य र च र ज प ल न update

शास्त्रीनगर में उपकेंद्र के निकट तकरीबन छह बिस्वा का तालाब है। राजस्व अभिलेखों में गाटा संख्या 551 तालाब के रूप में दर्ज है। अतिक्रमण के चलते इसका अस्तित्व खतरे में है। मौके पर इस जल क्षेत्र के चारों ओर भवन खड़े हैं। तालाब को कूड़े-कचरे से पाटा जा रहा है। हर ओर से कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि राजस्व कर्मियों की मिलीभगत से भू माफिया कब्जा कर तालाब की भूमि बेच रहे हैं। प्रशासन असहाय है।