इंडय सुपर सेक्स

विकास खंड मसौली के रसौली गांव में पायलट प्रोजेक्ट के तहत 22 प्रधानमंत्री आवास बनाए गए हैं। यहां लाभार्थियों को तहसील से जमीन आवंटित की जानी है। पीएम आवास को स्मार्ट सिटी के तौर पर विकसित करने का सपना धराशाई हो गया। अब वहीं पर कुछ परिवार झोपड़-पट्टी में रह रहे हैं। जिन्हें मुख्यमंत्री आवास दिया जाना था। जमीन देने के लिए तहसील स्तर पर किसी स्तर पर कोई काम नहीं किया।