hr recruiter jobs in vizag

औरंगाबाद। पतंजलि योगपीठ हरिद्वार द्वारा जखौरा गांव के शिव मंदिर के पास मंगलवार से पांच दिवसीय निशुल्क योग एवं ध्यान प्रशिक्षण शिविर प्रारंभ हो गया। शिविर का शुभारंभ गायत्री मंत्र से प्रारंभ हुई। करें योग रहें निरोग से ग्रामीणों को परिचय कराया गया। योग व प्राणायाम के मानव जीवन पर प्रभाव पर प्रकाश डाला गया। यौगिक क्रिया की जानकारी दी गई। योग प्रशिक्षक सुरेश प्रसाद आर्य ने योग व प्राणायाम की विस्तृत जानकारी दिया। कहा कि योग से शरीर से गंदे विचार समाप्त हो जाते हैं। तन, मन व विचार शुद्ध होते हैं। शरीर के स्वास्थ्य रखने के लिए एक घंटे प्रतिदिन योग व प्राणायाम करने पर जोर दिया। कहा कि आज के भागमभाग के दौड़ में मनुष्य को तनाव व सही भोजन नहीं मिलता है। वे नाना प्रकार के असाध्य रोगों से घिर जाते हैं। ऐसे में योग प्राणायाम रोगों से बचाता है। रोगों से मुक्ति दिलाता है। इसे अपनाने से मनुष्य सदा के लिए स्वास्थ्य हो जाते हैं। योग को विज्ञान बताया। कहा कि इससे मानसिक व शारीरिक लाभ होता है। क्रोध, तनाव से मुक्ति मिलती है। योग अपनाने से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। रोगों का आक्रमण नहीं होते। योग से भरपूर आक्सीजन मिलता है। प्रत्येक अंग को ऊर्जा मिलती रहती है। जिससे मनुष्य स्वस्थ्य रहते हैं। तामसी भोजन के परित्याग करने को गया। शाम को विभिन्न तरह की जड़ी बुटी, घरेलू सहित से रोगों से मुक्ति पाने के उपाय बताए गए। आयोजक के रूप में पंचायत समिति सदस्य धीरज कुमार, मनोरंजन कुमार ने ग्रामीणों से पांच दिनों तक बारीकी से योग प्रशिक्षण लेने की बात कहीं। राम विजय पंडित, कामेश्वर यादव, उपमुखिया प्रतिनिधि केदार चौधरी,पांचू भगत, सत्येंद्र सिंह, रामाशीष यादव, खुशबू कुमारी, पूजा कुमारी सहित दो दर्जन से ऊपर ग्रामीण योग शिविर में शामिल रहे।