हंद सेक्स मूव फल्में

सपरदह पंचायत वर्तमान समय में पंचायत चुनाव का हाल-बेहाल हो गया है। प्रतिनिधियों का सरकार व पंचायत की योजनाओं में सिर्फ लूट-खसोट करना ही मकसद रह गया है। पूर्व में चुनाव जीतने वाले प्रतिनिधि जहां पंचायत के सभी लोगों से राय-विचार कर विकास कार्यों का क्रियान्वयन करते थे। वहीं आज के प्रतिनिधि मनमाने तरीके से योजनाओं का चयन व क्रियान्वयन किया करते हैं। फुलकांत आचार्य,