ग्रम सेवक वैकेंस

ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर निजी विद्यालय तो तत्पर दिख रहे हैं। उन्होंने पहल भी की है। जिले के सरकारी विद्यालय के तरफ से किसी भी प्रकार की कवायद नहीं दिखना सरकारी विद्यालय में पढ़ने वाले बच्चों को लिए परेशानी बढ़ा रहा है। इनके शिक्षा ग्रहण पर अभी तक ब्रेक लगा हुआ है। जबकि जिले में हजारों की संख्या में सरकारी विद्यालय संचालित हो रहे हैं। वहीं शिक्षा विभाग भी मौनी व्रत धारण किए हुए हैं। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों तक इस लॉकडाउन में शिक्षा पहुंचाना एक ख्वाब ही है। शिक्षा विभाग भी इस पर कोई पहल नहीं करना उनकी कार्यशैली को दर्शा रहा है।