gonococcal संक्रमण

कोरोना काल में सीमित आय से आर्थिक संकट में आए अभिभावकों के व्यवहार में बदलाव आया है। वहीं स्कूलों के बंद होने के चलते घरों में रहने से बच्चों भी जिद्दी बन रहे हैं। अपनी फरमाइशों के पूरा न होने से वह रूठ रहे हैं। इस सबका प्रभाव अभिभावकों और बच्चों के रिश्तों पर भी पड़ रहा है। उनमें छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा हो रहा है। वह अपना गुस्सा या खीझ बच्चों पर निकाल रहे हैं। यह गुस्सा और खीझ अभिभावकों और बच्चों के रिश्तों को भी संक्रमित कर रहा है। इससे तनाव में आकर बच्चे घर छोड़ रहे हैं। आगरा में जिले की चाइल्ड हेल्पलाइन और रेलवे चाइल्ड हेल्पलाइन में अब तक दो दर्जन से ज्यादा इस तरह के केस आ चुके हैं। इनमें बच्चों की कांउसिलिंग करने पर सामने आ रहा है कि वह माता-पिता की डांट से नाराज होकर घर से निकल आए थे।