epfo assistant recruitment mock test

फॉरेंसिक टीम ने वैज्ञानिक परीक्षण की रिपोर्ट डीआइजी को सौंपी है। रिपोर्ट के मुताबिक, सभी नरमुंडों में क्रेक फ्यूजन (हड्डियों में दरार का संलयन) है, जो व्यक्ति के बालिग होने का प्रमाण है। दांतों की बनावट से भी बालिग होने की पुष्टि हुई है। बेंजामीन टेस्ट भी निगेटिव आया है। इसमें आठ महीने पुराना तक रक्त प्रकाश में आ जाता है। इसका मतलब है कि ये सभी आठ महीने से ज्यादा पुराने हैं। स्कल्टन (नरमुंड) में कार्बोनीफिकेशन मिला है। जब मिट्टी में कम से कम डेढ़ वर्ष तक हड्डी दबी रहती है तो उसमें कैल्शियम का क्षरण शुरू हो जाता है और कार्बन जमने लगता है, जिसे कार्बोनिक फिकेशन कहते हैं। इस आधार पर नरमुंड डेढ़ वर्ष पुराने हैं। एक भी नरमुंड में हत्या से मृत्यु होने की पुष्टि नहीं हुई है। नरमुंड पुरुषों या स्त्रियों के हैं, फॉरेंसिक विशेषज्ञों ने यह जानने के लिए डीएनए जांच कराने की संस्तुति की है।