एक्स एक्स एक्स एचड स्कूल

पटना [अमित आलोक]। बॉलीवुड में हिंदी फिल्‍में खूब बनती हैं, पर वहां अंग्रेजी का बोलबाला है। यहां के कई कलाकार ठीक से हिंदी नहीं बोल पाते हैं। लेकिन, यहां बनी कई फिल्‍मों व उनके गानों ने हिंदी पर गर्व की अनुभूति भी कराई है। साथ ही बिहार सहित हिंदी पट्टी के कई ऐसे कलाकार भी रहे हैं, जिन्‍होंने अपनी हिंदी का लोहा मनवाया है। चुपके-चुपके आज की इंटरनेट पीढ़ी मुख्‍यत: अंग्रेजी का इस्तेमाल कर रही है। उसकी हिंदी भी 'हिंदी' की 'हिंग्लिश' अधिक है। इस परिस्थिति में भी बॉलीवुड की कुछ फिल्‍मों ने हिंदी पर गर्व की अनुभूति कराई है। आज की अधिकांश युवा पीढ़ी को साल 1975 की फिल्म 'चुपके-चुपके' की शायद जानकारी नहीं हो। यह कॉमेडी फिल्म हिंदी के इर्द-गिर्द घूमती है। इसमें अमिताभ बच्‍चन, धर्मेंद्र, आम प्रकाश, शर्मिला टैगोर व जया भादुड़ी नजर आए थे।