दूसर वश्व युद्ध कब हुआ थ

जिले में हरी सब्जियों के साथ प्याज दिनोंदिन महंगी होती जा रही है। इंदौर, नासिक में लगातार बारिश होने के कारण प्याज की आवक कम हो गई है। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने जिले में पांच विक्रय केंद्र खोले हैं। एडीएम आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव ने बताया कि फीरोजाबाद, शिकोहाबाद, सिरसागंज, टूंडला मंडी व जसराना यार्ड में विक्रय केंद्र खोले गए हैं। इन केंद्रों पर राशनकार्ड पर प्रति व्यक्ति को एक किग्रा. प्याज मिलेगी। यदि परिवार में सदस्य अधिक हैं तो दो किग्रा. भी प्याज खरीद सकते हैं। कोटला रोड स्थित नवीन मंडी समिति में मुख्य गेट पर काउंटर बनाया गया है। सुबह काउंटर पर कम ग्राहक नजर आए, वहीं प्याज की गुणवत्ता भी ठीक नहीं मिली। मंडी समिति सचिव रामकुमार ने बताया कि मंडी में पांच व्यापारियों पर 192 कुंटल प्याज का स्टॉक है। मंगलवार को 30-35 रुपये प्रति किग्रा. के हिसाब से प्याज बिक्री कराई गई है। शिकोहाबाद: स्टॉल लगाकर कराएंगे प्याज की बिक्री