dsc mawkyrwat job recruitment

कोरोना महामारी की वजह से मार्च से जुलाई के बीच की अधिकांश शादियां टल कर नवंबर-दिसंबर में आ गई हैं। इस वजह से अल्प अवधि में शादियों की संख्या बढ़ गईं हैं। कंफेडरेशन आफ आल इंडिया ट्रेडर्स के  महासचिव डाक्टर रमेश गांधी का कहना है कि पटना में 50 हजार शादियां होने का अनुमान है। कैट के बिहार अध्यक्ष अशोक कुमार वर्मा का कहना है कि नवंबर-दिसंबर में पटना में औसतन 12 से 15 हजार शादियां होती हैं। हालांकि, इस बार 50 हजार शादियां होंगी क्योंकि वर्ष 2020 से ही शादियों के टलने का सिलसिला चल रहा है। चेयरमैन कमल नोपानी ने कहा है कि बिहार में डेढ़ लाख जबकि देश भर में शादियों का आंकड़ा 25 लाख पर जाएगा।