do recruiters value online or offline course

नजीबाबाद नगर में यातायात सुरक्षा के मायने इसलिए बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं, क्योंकि मेरठ-पौड़ी हाईवे पर गुरुद्वारे से सेंट मेरीज हास्पिटल तक और मुरादाबाद-हरिद्वार राष्ट्रीय राजमार्ग पर बिहारी का तिराहा से गुरुद्वारे तक भारी यातायात को फ्लाईओवर से ही गुजरना होता है। दो राष्ट्रीय राजमार्गो के एक-दूसरे को क्रास करने, फ्लाईओवर पर यू-टर्न के साथ सीधी सड़कें भी होने के कारण डबल फाटक फ्लाईओवर तो सुरक्षित यातायात की ²ष्टि से महत्वपूर्ण है ही, मेरठ-पौड़ी हाईवे पर तहसील मुख्यालय के सामने कोटद्वार रेलवे ब्रांच लाइन पर बना फ्लाईओवर भी कम मायने नहीं रखता है। इस फ्लाईओवर पर दो तीव्र घुमाव हैं। इस फ्लाईओवर पर रात्रि में पथप्रकाश के लिए स्ट्रीट लाइट पोल लगे हैं, लेकिन यह शोपीस बने हैं। रात्रि में फ्लाईओवर पर पथप्रकाश व्यवस्था चरमराई हुई है। इतना ही नहीं घुमाव क्षेत्र से एक स्ट्रीट लाइट पोल पिछले दो वर्षों से टूटा पड़ा है। उसे आज तक नहीं लगाया है। मार्ग से गुजरने वाले खलील अहमद, सतनाम सिंह, डा.नरेंद्रपाल सिंह, मोहम्मद याकूब आदि का कहना है कि क्षेत्र में फ्लाईओवर की देखरेख में गंभीरता नहीं बरती जा रही है। पूरी रात फ्लाईओवर से तेज गति से खनन वाहन और भारी वाहन गुजरते हैं। पथप्रकाश के अभाव में हादसे की आशंका बनी है।