डएनए टेस्ट क्य हत है

डीएम चंद्रभूषण सिंह ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए हैं। चार ठेके सील कर दिए गए हैं। इस प्रकरण में एक महिला सहित चार लोगों को हिरासत में लिया गया है। जांच होने तक जिले में देसी शराब की सभी दुकानें बंद करा दी गई हैं। यहां पर प्रथमदृष्टया जांच में मिलावटी शराब बनाकर सरकारी दुकान से बेचने का मामला सामने आया है, इसमें सरकारी ठेकेदार भी लिप्त है। शासन स्तर से जिला आबकारी अधिकारी सहित पांच को निलंबित किया गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने बैठक में गृह व आबकारी विभाग को 48 घंटे अवैध शराब के खिलाफ छापामार अभियान चलाने का निर्देश दिया है। इस केस में तीन मृतकों के स्वजन की ओर से अलग-अलग थाने में 12 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।