dc office amingaon recruitment 2020

सीतामढ़ी। अभी लॉकडाउन चल रहा है। घर और बाहर हर तरह से बंदिशें हैं। कोरोना के कहर से ऐसे हालात से सब जूझ रहे हैं। मगर, समाज, परिवार और देश के लिए ये जरूरी है। घरों के अंदर लोगों की दिनचर्या कैसी गुजर रही है, दैनिक जागरण ने उनसे बातें कर यह जानने का प्रयास किया। महिलाओं से बात की, बच्चों से पूछा, घर के अभिभावकों के विचार लिए। कैसे बीत रहे उनके दिन, लॉकडाउन के पहले और अब के दिनचर्या में क्या अंतर आया है? सबने अपने समय का शेड्यूल तय कर लिया है। महिलाएं कुकिग के बाद बच्चों के साथ मस्ती कर उनका मनोरंजन भी रही हैं। बड़े-बुजुर्ग आध्यात्मिक किताबें पढ़ने के साथ मेडिटेशन पर ध्यान दे रहे हैं। ये जिदगी मिलेगी ना दोबारा