चकन बरयन बनने क आसन तरक

बेतिया। मैनाटांड़ प्रखंड क्षेत्र में मंगलवार की सुबह से रूक-रूक कर बारिश होने से सड़कों पर वीरानगी छाई है। जबकि सरेह गुलजार हैं। किसानों में खुशी है। किसान मोहम्मद अमरूल्लाह, शेख कामिल, भागवत ठाकुर निराला, वीरेंद्र कुशवाहा, आनंद मिश्रा, सुरेश यादव, देवेंद्र महतो, नागेंद्र यादव, जोगिद्र यादव, कमल राम, पारस पटेल आदि ने बताया कि गरमा धान की रोपनी कर दी गई है। उसके लिए बारिश बहुत ही फायदेमंद है। साथ ही जो धान के बिचड़े गिराए गए हैं। उसके लिए भी अच्छा है। रूक-रूक कर बारिश से धान की बिचड़े जल्द बढ़ेंगे और रोपनी भी जल्दी कर दी जाएगी। वही रिमझिम बारिश से प्रखंड मुख्यालय से सटे अस्पताल जाने वाली रोड, इनरवा, पिडारी, मरजदवा, माधुरी, डमरापुर आदि स्थानों पर जलजमाव और कीचड़ से आवागमन में परेशानी है। सड़कों पर ही घरों का पानी बहने से अस्पताल जाने में एंबुलेंस व मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। अंचल प्रशासन की ओर से इस संबंध में कोई कारगर कदम नहीं उठाने से लोगों में आक्रोश गहराता जा रहा है। प्रखंड कृषि पदाधिकारी अशोक कुमार सहनी ने बताया कि मानसून के पानी से किसानों को फायदा है। पानी से धान की फसलों मैं बढ़ोतरी होगी। उधर, व्यापारियों का कहना है कि बारिश की वजह से लोग कृषि कार्य में जुट गए हैं। इस वजह से बाजार में ग्राहकों की संख्या कम हो गई है।