ब्लू फल्म सेक्स नंग सन वल

समिति के अध्यक्ष श्री सैनी बताते हैं कि उनकी समिति का लक्ष्य हर साल एक हजार पौधे लगाने का है। इसके लिए सरकारी स्कूलों, ग्राम समाज की खाली पड़ी जमीनों की तलाश करते हैं और वहां पौधरोपण करते हैं। खुर्शीद कन्या इंटर कॉलेज, सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज, महर्षि विद्या मंदिर इंटर कॉलेज आदि ज्यादातर कॉलेज में वह पौधे लगा चुके हैं। वर्ष 2009 में फिजिकल कॉलेज प्रांगण में 250 पौधे लगाए थे। इनमें ज्यादातर पौधे जीवित हैं और अब पेड़ बनने लगे हैं। इसके अलावा अपने गांव के शमशान घाट और ककरौआ किसान सेवा सहकारी समिति में भी इसी वर्ष पौधरोपण किया था। उनकी पत्नी शिवाली सैनी भी अब उनकी मुहिम में शामिल हो चुकी हैं। वह बताते हैं कि पौध लगाने के बाद उनकी देखभाल की भी जिम्मेदारी आसपास के लोगों को सौंपते हैं। पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड भी लगवाते हैं। वह कहते हैं कि वर्तमान में हम ऐसे विकास की ओर बढ़ रहे हैं, जो हमारे अस्तित्व के लिए खतरा बन रहा है। प्राकृतिक संपदाएं नष्ट हो रही हैं। पेड़ों की अंधाधुंध कटाई से पृथ्वी का तापमान बढ़ रहा है। ग्लोबल वार्मिग सहित बाढ़, सूखा आदि प्राकृतिक आपदाएं भविष्य के संकट की ओर इशारा कर रही हैं। इसके बाद भी यदि हम पर्यावरण संरक्षण के प्रति सचेत नहीं हुए तो पृथ्वी पर जीवन संकट में होगा। भास्कर ¨सह