बब देओल क पहल फल्म कन स है

जागरण संवाददाता, फीरोजाबाद: प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के दर्जनों लाभार्थी प्रशासन के लिए सिर दर्द बन गए हैं। वे सरकारी अनुदान की पहली किश्त लेकर बैठ गए हैं। दो-तीन महीने के बाद भी उन्होंने मकान बनवाना शुरू नहीं किया है। डूडा विभाग ने इसकी पड़ताल शुरू कर दी है। रिकवरी की तैयारी भी हो गई है।