balwant rai mehta क स म र गय

शिवांग शर्मा ने बताया कि यूक्रेन में लगभग 20 हजार से ज्यादा भारतीय विद्यार्थी पढ़ाई कर रहे हैं। उनके विश्वविद्यालय में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जयपुर और उत्तराखंड के लगभग दो हजार विद्यार्थी पढ़ते हैं। परिजनों से बच्चों की बात भी कराई जा रही है। उन्हें खाने और पीने के सामान की भी कोई कमी नहीं होने दी जा रही है लेकिन बमबारी से कुछ भी होने का डर बना हुआ है। लोगों को मिसाइलें गिरने की आवाजें सुनाई दे रहीं हैं। एयरपोर्ट की तरफ जाने से बिल्कुल मना कर दिया गया है। दुकानों पर लोगों की भीड़ जुटी हुई है। लोग खाने व पीने के सामान का स्टाक करके घर में रख रहे हैं। उनका कहना है पता नहीं यह स्थिति कब तक रहेगी, इसलिए सूखा राशन ज्यादा से ज्यादा स्टाक करके रख रहे हैं। शिवांग शर्मा ने बताया कि अब तो केवल ईश्वर का सहारा है।