atos syntel 2020 recruitment process on campus

सद्दाम और शकील की तलाश होने लगी। दोनों को डीएसए ग्राउंड के पास से गिरफ्तार किया गया। इनके पास से नशीला पदार्थ, मृतक शैलेंद्र का पहचान पत्र आदि बरामद हुआ। पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे जहरखुरानी करते हैं। रेलवे स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों को बाइक और टेंपो में बैठा लेते हैं। रास्ते में चाय में नशीला पदार्थ खिलाकर उनको लूट लेते हैं। कई वारदात कर चुके हैं। अचेत हुए लोगों को झूंसी, नैनी, कौशांबी समेत कई जगह फेंका है। शैलेंद्र को भी अचेतावस्था में रेलवे लाइन पर फेंक दिया था। एक और व्यक्ति जिसका नाम कुंवर था, उसे सड़क पर फेंक था, लेकिन वह बच गया।