army public school golconda recruitment 2018

उन्होंने बताया कि सिजेरियन दो तरह के होते हैं। इमरजेंसी व इलेक्टिव सिजेरियन। अभी इलेक्टिव सिजेरियन किए जा रहे हैं। सुविधाएं बढ़ने से इमरजेंसी सिजेरियन भी किए जा सकेंगे। उन्होंने बताया कि अस्पताल के उच्चीकरण का प्रस्ताव भी मंजूर हो चुका है। यहां न केवल तीस बेड की व्यवस्था होगी बल्कि आइसीयू आदि की सुविधा भी मरीजों को मिलेगी। वहीं, विशेषज्ञ चिकित्सकों की भी तैनाती यहां की जाएगी। जिससे रायपुर, मालदेवता, केसरवाला, द्वारा, सौड़ा सरौली, रांझावाला, नथुवावाला सहित आसपास की एक बड़ी आबादी को बेहतर इलाज मिलेगा।