amar ujala news allahabad in railway recruitment

बलरामपुर: गर्मी व उमस से जूझ रहे उपभोक्ताओं की बिजली ने नींद हराम कर दी है। तीन दशक पुराने पैबंद लगे तारों से हो रही आपूर्ति हवाओं के झोंको संग गुल हो जाती है। जिससे उपभोक्ताओं को अघोषित बिजली कटौती का सामना करना पड़ता है। यही नहीं, जंगली लताओं से तार व खंभे जकड़े हुए हैं। जिससे बारिश के दौरान करंट उतर आता है। अब तक 12 से अधिक लोग करंट की चपेट में आ चुके हैं। बावजूद इसके बिजली महकमा उसे दुरूस्त करने की जहमत नहीं उठा रहा है। उपभोक्ताओं को महज छह से सात घंटे आपूर्ति मिल रही है। लोवोल्टेज की वजह से मोबाइल भी चार्ज नहीं हो पाते हैं। फाल्ट ठीक करने में सात से आठ दिन का समय लग जाता है। ट्रांसफार्मर बदलवाने के लिए लोगों को चंदे लगाने पड़ रहे है। अधिकारी भी इन समस्याओं के निस्तारण के लिए आगे नहीं आ रहे हैं।