all indian bank recruitment

इससे पहले मंगलवार को बीड़ जिले में ही एक 12 वर्षीय लड़की की लू लगने से उस समय मौत हो गई थी, जब वह करीब-करीब सूख चुके हैंडपंप से पानी निकालने का प्रयास कर रही थी। बीड़ के सबलखेड गांव की निवासी योगिता अशोक देसाई की पानी की कमी के कारण मौत हो गई थी। इससे पहले वह एक हैंडपंप से पांच बार पानी निकालने का प्रयास कर चुकी थी। उस दिन यहां का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस था। मराठवाड़ा में पानी की कमी के कारण परिवार का प्रत्येक सदस्य, विशेषकर बच्चे पानी के टैंक और हैंडपंप से इस तपती गर्मी में कई-कई बार पानी लाने को मजबूर हैं। इलाके के 11 प्रमुख जलाशयों में से आठ जलाशय सूखने के कगार पर पहुंच गए हैं।