aavin job recruitment in september 2019 chennai

रानीगंज तहसील क्षेत्र के खरहर गांव के महेश कुमार विश्वकर्मा नाइजीरिया में रहते हैं। वह सिविल इंजीनियर हैं। भले ही वह वहां पर कामकाज में व्यस्त थे, लेकिन जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव पर उनकी नजरें टिकी हुई थी। वह अपने भाई बृजेश से चुनाव के रुझान की पल-पल जानकारी ले रहे थे। जब उनको यह जानकारी मिल गई कि जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी की प्रत्याशी माधुरी पटेल ने जीत दर्ज की। वह जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित हो गईं, तब जाकर उनका ध्यान यहां से हटा। इसी तरह से सदर ब्लाक क्षेत्र के कुसमी गांव के इरफान खान सऊदी अरब में प्रोस्यूरमेंट मैनेजर हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर मतदान से लेकर मतगणना तक हर रोज आपने भाई ग्राम प्रधान तौहीद आलम से जानकारी ले रहे थे। शनिवार को वह पूरे दिन फोन के माध्यम से चुनाव की जानकारी लेते रहे। जब उनको जानकारी मिली कि प्रत्याशी माधुरी ने जीत हासिल की, तब जाकर उनका ध्यान यहां से हटा और अपने कामकाज में व्यस्त हो गए। लालगंज तहसील क्षेत्र के बहुंचरा गांव के विशाल सिंह अमेरिका में साफ्टवेयर इंजीनियर हैं। जबकि जेठवारा के बछुआ गांव के विपिन सिंह दक्षिण अफ्रीका में इंटरनेशलन परचेज मैनेजर हैं। पट्टी क्षेत्र के धरौली मुफरिद गांव के मनीष मिश्र अमेरिका में रहते हैं। वह वहां पर इंजीनियरिग की पढ़ाई कर रहे हैं। जिपं अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव व मतगणना को लेकर इनका ध्यान कामकाज से बंटा रहा। जब विपिन व विशाल को यह जानकारी मिली कि जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी की प्रत्याशी ने जीत दर्ज कर ली है तो वह अपने कामकाज में व्यस्त हो गए।