आर्म क डसेबलट पेंशन क तज़ खबर

बता दें कि भारतीय सैन्य अकादमी की वैश्विक स्तर पर एक अलग पहचान है। अकादमी से देश ही नहीं बल्कि मित्र देशों की सेना को भी युवा सैन्य अफसर मिलते हैं। अकादमी में साल में दो बार यानी जून व दिसंबर में पासिंग आउट परेड होती है। अकादमी की स्थापना से लेकर अब तक 60384 जेंटलमैन कैडेट सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त कर पास आउट हो चुके हैं। इनमें 34 मित्र देशों को मिले 2572 युवा सैन्य अधिकारी भी शामिल हैं। हाल में 222 विदेशी कैडेट यहां प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।