12वं बर्ड क प्रवेश पत्र

-सरजीवन धीर पप्पू, प्रधान, स्वर्णकार संघ बाजार में आवाजाही काफी है। दिन भर भीड़ रहती है। इधर -धर के वाहन भी बाजार में खड़े रहते हैं। कई बार वाहनों को लेकर झगड़े भी होते हैं। दुकानदार दिन भर दो पहिया वाहन सही ढंग से लगवाने में ही लगे रहते हैं। ग्राहक का एक स्कूटर तक खड़ा कराना टेढ़ी खीर के समान है। इसकी व्यवस्था बनानी होगी।