10 वं परणम 2019 अश्वशक्त बर्ड धर्मशल

पार्षदों के अनुसार टेंडर में जो शर्तें हैं, वे ठीक नहीं हैं। टेंडर में यह तक भी नहीं बताया गया कि वार्डों में ठेकेदार क्या-क्या सुविधा देगा। इसमें कुछ भी शामिल नहीं किया गया। टेंडर में हर साल 10 प्रतिशत राशि बढ़ाने की भी बात कहीं गई है। इन्हीं नियम शर्तों के विरोध पार्षद कर रहे हैं। इसके बाद विधायक प्रमोद विज, सांसद संजय भाटिया ने भी निकाय मंत्री कमल गुप्ता से टेंडर कैंसिल करने की सिफारिश की थी। पांच अहम सवाल