rinl visakhapatnam steel plant recruitment 2016

विष्णुगढ़ : विष्णुगढ़ हजारीबाग का करोनो संक्रमित क्षेत्र है। जिले से मिले दो कोरोना संक्रमित इसी क्षेत्र से मिले हैं। इस वजह से और भी लोगों के बीच संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। घर-घर सर्वें का कार्य जारी है। इस भय के माहौल में चिकित्सक अपनी ड्यूटी पूरी सावधानी से निभा रहे हैं। जहां खौफ के बीच 100 घरों में नए मेहमानों का आगमन हुआ है। 100 नए मेहमानों की किलाकारियां गूंजने से एक सुखद एहसास भी हुआ है। जानकारी के अनुसार मार्च महीने में 146 प्रसव के अलावा चालू महीने यानी अप्रैल के 16 तारीख तक में अन्य 58 प्रसव भी विष्णुगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में करवाया गया है। नए मेहमानों के आने को लेकर स्वास्थ्य केंद की अहम भूमिका रही। प्रसुता को घर से अस्पताल तक लाने में सहिया एवं ममता वाहन के परिचालकों की भूमिका भी सराहनीय रही है। अस्पताल में लाकडाउन के दौरान बाहर से आए प्रवासी मजदूरों की स्क्रीनिग करनी की प्राथमिकता बनी थी। साथ में प्रसूता को प्रसव करवाना उतनी बडी ही जबाददेही थी। लोग नए मेहमानों के आने का इंतजार में परिजनों पलक पावडे बिछाए थे। उन्हें भी निराश कतई नहीं करना था। सुरक्षित प्रसव कराने में विष्णुगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के तहत स्वास्थ्य कर्मियों ने अपनी सेवा भाव से प्रसूता का सुरक्षित प्रसव कराने में सफल रहे। प्रसूता का प्रसव कराना स्वास्थ्यकर्मियों के लिए चुनौती भरा कार्य था। इन सबके बीच स्थास्थ्य कर्मियों ने इस चुनौती को सफलता पूर्वक सामना करने में जुटे रहे। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. अरूण कुमार सिंह कहते हैं। सभी कार्य टीम भावना से किया जाता है, जिसमें सफलता मिल रही है। इसमें चिकित्सकों के अलावा एएनएम, सहिया, और स्वास्थ्य कर्मियों की गतिविधियां हमेशा सकारात्मक रहती है।