द न क ज गरण today news paper

कोरोना को हराने के लिए सालभर तक लोगों ने संयम बरता। कोविड प्रोटोकाल का पालन किया। इससे हम कोरोना को हराने की कगार पर पहुंच गए, लेकिन विगत दो दिनों में अचानक संक्रमण दर बढ़ने से हर कोई चितित नजर आ रहा है। आंकड़ों पर नजर डालें तो 30 जनवरी को 10 मामले सामने आए थे। इसके बाद यह संख्या इससे कम ही रही। 14 दिवसों में तो कोई नया संक्रमित मरीज ही नहीं था। इससे लोग लापरवाह होते चले गए। चेहरे पर लगे मास्क उतारकर फेंक दिए। शारीरिक दूरी का नियम भूल गए। दोस्तों से गले मिलना और हाथ मिलाना शुरू कर दिया। हर कोई यह माना बैठा कि कोरोना खत्म हो गया। इसका नतीजा सामने है। यदि हम अब भी नहीं चेते तो हालात पहले जैसे हो जाने से कोई नहीं रोक पाएगा।